Tuesday, March 23, 2010

फिर से सोचना होगा !

मुझे लगता है कि मुझे अपने बारे में भी पुनः सोचना होगा कि मैं कौन हूँ और कैसा हूँ । ऐसा हूँ तो ऐसा क्यों हूँ ।